‘1952 में जो हो रहा था, आज भी कुछ ऐसा ही…’ दवाइयों की कालाबाजारी पर छलका धर्मेंद्र का दर्द

देश में कोरोनावायरस लगातार अपने पैर पसार है। हर दिन लाखों लोग इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ रहे हैं। तो वहीं, सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है। हालांकि, इतनी विकट स्थिति होने के बाद भी कुछ लोग आपदा में अवसर तलाश रहे हैं। देश में बड़े स्तर पर रेमडेसिविर, ऑक्सीजन सिलेंडर समेत …

‘1952 में जो हो रहा था, आज भी कुछ ऐसा ही…’ दवाइयों की कालाबाजारी पर छलका धर्मेंद्र का दर्द Read More »