एमपीः पीएम आवास के नाम पर रिश्वत की शिकायत, बोलीं एमएलए- हजार पांच सौ ठीक, 10 हजार लेना गलत



दरअसल, कुछ दिन पहले PM आवास के नाम पर रिश्वत मांगे जाने की शिकायत लेकर सतऊआ गांव के लोग विधायक के पास आए थे। उनका कहना था कि महकमे के अधिकारी विधायक के पास हजारों रुपए वसूल रहे हैं।

एमपी के पथरिया की विधायक रामबाई से दमोह में लोगों ने रिश्वत लिए जाने की शिकायत की तो उनका कहना था कि हजार-पांच सौ की घूस लेना ठीक है पर 10 हजार लेना गलत है। शिवराज सिंह चौहान की सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सब कुछ अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा चल रहा है। विधायक ने कहा कि इतना भ्रष्टाचार ठीक नहीं। कर्मचारियों को हद में रहकर काम करना चाहिए। रामबाई बसपा के टिकट के विधायक चुनी गई थीं पर फिलहाल उनके को पार्टी ने निलंबित कर रखा है।

दरअसल, कुछ दिन पहले PM आवास के नाम पर रिश्वत मांगे जाने की शिकायत लेकर सतऊआ गांव के लोग विधायक के पास आए थे। उनका कहना था कि महकमे के अधिकारी विधायक के पास हजारों रुपए वसूल रहे हैं। विधायक रविवार शाम सतऊआ पहुंचीं। वहां चौपाल लगाई। इसमें संबंधित अफसरों को भी बुलाया गया। ग्रामीणों ने विधायक के सामने ही सहायक और सचिव पर वसूली के आरोप लगाए।

विधायक ने कहा कि थोड़ा बहुत तो चलता है, लेकिन हजारों रुपए किसी गरीब से ले लेना गलत है। यदि एक हजार रुपए भी ले लेते तो कोई आपत्ति नहीं थी। सवा लाख के घर में 5 से 10 हजार की रिश्वत लेना ठीक नहीं है। उनका कहना था कि आटे में नमक बराबर रिश्वत चलती है।

विधायक ने सहायक और सचिव से कहा कि वो घर में 1 लाख रुपए का बाथरूम बना सकते हैं पर गरीब लोग सवा लाख में घर बना रहे हैं। उनसे 10 हजार लेंगे तो उन पर क्या बीतेगी। हालांकि, पंचायत में सहायक और सचिव को बुरा भला कहने के बाद भी विधायक ने कर्मचारियों की शिकायत नहीं ली। उनका तर्क था कि ग्रामीणों के पैसे वापस करने के लिए रोजगार सहायक और सचिव से कह दिया है।

गौरतलब है कि 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा के दो विधायक संजीव कुशवाह और रामबाई ने जीत हासिल की थी। संजीव पहले ही बसपा से किनारा करके बीजेपी से जुड़ चुके हैं जबकि रामबाई को पार्टी ने निलंबित कर रखा है। रामबाई अपने बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहती हैं। 2019 में रमाबाई ने कहा था कि बीजेपी सभी को ऑफर दे रही है। उनके पास भी फोन आते हैं। उन्हें मंत्री पद के साथ-साथ 50-60 करोड़ रुपये का ऑफर दिया जा रहा है।



Source link

Материалы по теме:

कोरोना के बीच MP के 3,000 जूनियर डॉक्टरों का सामूहिक इस्तीफा
मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर तीन दिन पहले हड़ताल पर गये प्रदेश के छह सरकारी मेडिकल कॉलेज के ...
सांसद नवनीत कौर राणा को ‘जाति’ के मामले में राहत
सुप्रीम कोर्ट ने अमरावती से निर्दलीय सांसद व अभिनेत्री नवनीत कौर को जाति के मामले में बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट ने ...
शोध, संत का हवाला दे BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- दिल्ली का नाम इंद्रप्रस्थ करने की जरूरत, जब तक न बदलेंगे तब तक “उलझे” रहेंगे
कोरोनावायरस, चीन घुसपैठ और पीओके जैसे मुद्दों पर अपनी ही सरकार को लगातार घेरने वाले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी अब केंद्र के लिए ...
भाजपा की प्रज्ञा ठाकुर से भिड़े AIIMS के डायरेक्टर, बोले- मैं नौकर नहीं हूं
भोपाल एम्स के डायरेक्टर और बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। एक तरफ जहां सांसद ने स्वास्थ्य ...
आदित्यनाथ चापलूस नहीं हो सकते- मोदी सरकार के खिलाफ लगातार ट्वीट करने वाले BJP सांसद ने लिखा
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आज जन्मदिन है। इस मौके पर भाजपा समेत विपक्षी दलों के कई नेताओं ने उन्हें शुभकामनाएं ...

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top